मोटरसाइकिल चालकों के लिए बुरी खबर, कटेगा 5,000 रुपए चालान; जाने कैसे बचे?

 
मोटरसाइकिल चालकों के लिए बुरी खबर, कटेगा 5,000 रुपए चालान; जाने कैसे बचे?

अगर आप भी दिल्ली-मेरठ हाईवे (Delhi-Meerut Highway) का दुपहिया वाहनों से इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं. क्योंकि NHAI हाईवे पर दुपहिया वाहनों को लेकर सख्त हो गया है. एनएएचआई पहले ही साफ कर चुका है कि हाईवे पर दोपहिया वाहन चलाना पूरी तरह से प्रतिबंधित है. यदि इसके बावजूद भी कोई नियम तोड़ेगा तो डिजिटली चालान(digital invoice) उसके घर भेजा जाएगा. बताया जा रहा है कि रोजाना सैंकड़ों चालान किये भी जा रहे हैं. जिनमें अब और तेजी लाने के लिए कहा जा  रहा है… चालान की धनराशि एनएएचआई ने 5000 रुपए रखी है.

दरअसल, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे एक हाई स्पीड़ हाईवे है. हादसों पर लगाम लगाने के लिए दुपहिया वाहनों को बैन किया गया है. लेकिन इसके बावजूद लोग रोजाना नियम तोड़ रहे हैं. मेरठ जोन के पूर्व कमिश्नर इसको लेकर अभियान भी चला चुके हैं.  बताया जा रहा है कि एनएचएआई भारी संख्या में दोपहिया और तिपहिया वाहनों की नंबर प्लेट पुलिस को सौंपेगा. साथ ही उनके घर डिजिटली चालान भेजा जाएगा. इसके अलावा स्थानीय पुलिस भी मेरठ में परतापुर हाईवे से उतरने वाले वाहनों के रोककर चालान करेगी..

ये है जुर्माने का प्रावधान
आपको बता दें कि नियमानुसार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर सिर्फ चार पहिया व उससे ज्यादा पहियों के वाहन चलाने की अनुमति है. साथ ही हाईवे पर  हल्के वाहन की गति 100 किमी प्रतिघंटा और भारी वाहन 80 किमी प्रति घंटा निर्धारित की गई है. सीसीटीवी के माध्यम से स्पीड की समीक्षा की जाती है. आपको बता दें कि यदि आप एकेले बाइक लेकर हाईवे पर चल रहे हैं तो 1000 रुपए का चालान, साथ ही बाइक पर दो लोग बैठे हैं तो 2000 रुपए से लेकर 5000 रुपए तक का चालान किया जाएगा.

नियम हुए सख्त 
परियोजना निदेशक, एनएचएआई अरविंद कुमार के मुताबिक दुपहिया वाहनों को लेकर पहले अभियान चलाया हुआ है. लेकिन भई कुछ लोग नियमों की अनदेखी कर रहे हैं. नियमों को और सख्त किया जाएगा. साथ ही जुर्माने की धनराशि भी बढ़ाई जाएगी. यदि आप भी दुपहिया वाहन लेकर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का यूज करते हैं तो सावधान हो जाएं अन्यथा जुर्माना भुगतने को तैयार रहें..

Related Topics

Share this story